ज्ञानगंज : पंडित गोपीनाथ कविराज द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Gyanganj : by Pandit Gopinath Kaviraj Hindi PDF Book

पुस्तक का विवरण : अनादिकाल से हिमालयका सम्पूर्ण क्षेत्र भारतीय सन्तों के लिए तपोभूमि रहा है| प्राचीनकाल के ऋषि-मुनि से लेकर आधुनिक काल के अनेक संत-योगी हिमालयके विभिन्न क्षेत्रों में तपस्या करते रहे| आधुनिक काल के संतों में महात्मा तैलंग स्वामी, लोकनाथ ब्रह्मचारी, हितलाल मिश्र, राम ठाकुर, सदानन्द सरस्वती, प्रभुपाद विजयकृष्ण गोस्वामी, स्वामी विशुद्धानंद, श्याम्चाराम लाहिड़ी, कुल्दानंद आदि हिमालय के विभिन्न क्षेत्रों में अध्यात्मिक साधना करते रहे………….

Description about eBook : The entire region of Himalayas has been ancestral land for the Indian saints from time immemorial. From the ancient Sage-Muni to many modern times, Saint-yogi practiced penance in various areas of the Himalayas. In modern times, saints practiced spiritual practices in different areas of the Himalayas like Mahatma Telang Swamy, Loknath Brahmachari, Hitlal Mishra, Ram Thakur, Sadanand Saraswati, Prabhupada Vijayakrishna Goswami, Swami Vishuddhanand, Shyamcharam Lahiri, Kuldanand etc……………….

44 Books पर उपलब्ध सभी हिंदी पुस्तकों को देखने के लिए – यहाँ दबायें