माण्डूक्य उपनिषद् : श्री कृष्णानन्द बुधौलिया द्वारा मुफ्त उपनिषद् हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Mandukya Upanishad : by Shri Krishnanand Budholiya Free Hindi Upanishad PDF Book 

पुस्तक का विवरण : भारतीय महर्षियों के तप पूत निर्मल ह्रदय में उपनिषदों का स्वयं उद्रेक हुआ है | यह उपनिषद् उनको चरम साधना की परिणाम-भूत आध्यात्मिक अनुभूति के मूर्तिमान ग्रन्थ है| सर्वजन प्रसिद्ध वेदों के शीर्षस्थ भाग इन उपनिषदों के महत्व की धारा अनादिकाल से वर्तमान काल पर्यंत उसी प्रकार अविच्छित रूप से प्रवाहित है जैसे भगवती भागीरथी के प्रवाह का निर्मल स्त्रोत| इनके हो आश्रय से महान साधकों ने परम शान्ति प्राप्त की है| अतः अध्यात्मक मार्ग के आरोही साधकों के लिए इनका स्वाध्याय अत्यन्त आवश्यक है…………..

Description about eBook : Indian Mahrshion son’s tenacity in immaculate Heart Upanishads is self Udraek. The results of the Upanishads they practice extreme jack-past of spiritual experience is the book | Mass famous Vedas, the Upanishads, the top part of the importance of these sections from time immemorial up to the present time has flown by so Avichchit clean sources such as the flow of the Bhagirathi Bhagwati. When these great seekers of asylum is the ultimate peace. So Adhyatmk seekers ascending pathway is important for their self-cultivation………………..

44 Books पर उपलब्ध सभी हिंदी पुस्तकों को देखने के लिए – यहाँ दबायें